एसिडिटी के घरेलू उपाय

acidity in hindi

acidity in hindi  जब भी हमें एसिडिटी होती है तो हमारा पेट फूल जाता है,

और हमारा सारा पाचन तंत्र खराब भी हो जाता है।

एसिडिटी के घरेलू उपाय: अगर पाचन तंत्र ठीक नहीं होगा तो हम अपना जीवन

कैसे व्यतीत करेंगे जीवन के सारे लुफ्त कैसे उठाएंगे।

आपको ये भी पता होना चाहिए इसके क्या क्या लक्षण होते हैं,

जैसे की पेट फूलना या दर्द होना या फिर जी मचलना।

और क्या आपको पता है की ये समस्या सभी को हो सकती है।

एसिडिटी होने के कुछ मुख्य कारण है जैसे कि – अधिक मात्रा में तला तथा भुना भोजन करना , बासा खाना खाना ,

अधिक शराब का सेवन करना , व्यायाम न करना या फिर कोई फिजिकल कार्य न करना , अत्यधिक भोजन करना आदि।

तो में कुछ आपको आसान घरेलू नुस्खे बताने जा रही हूँ जिससे की आप अपने घर पर ही इसका आसानी से इलाज कर सकते हैं।

अगर आपको रोज ही एसिडिटी होती है तो रोज सुबह उठते ही एक गिलास गुनगुने पानी का पीजिए।

लेकिन कभी भी खाना खाने से पहले और तुरंत बाद कभी भी पानी का सेवन ना करें क्योंकि ऐसा करने से पाचन तंत्र में गड़बड़ी हो जाती है। ऐसे ही कई और भी घरेलू उपाय हैं जो अपनाये जा सकते हैं।

और जिन्हे हम घर पर ही आसानी से अपना सकते हैं।

आइए तो जानते हैं कुछ आसान घरेलू उपाय जिनसे हम एसिडिटी को दूर कर सकते हैं।


अपनाएं तुलसी की पत्तियां
– यदि आपको पेट में कुछ गैस या जलन लग री हो तो तुरंत कुछ तुलसी की पत्तियां चबाएं या फिर थोड़ी सी पत्तियों को पानी में उबाल लीजिए और फिर उस पानी को पीजिए आपकी एसिडिटी एकदम से दूर हो जाएगी।

c

छाछ का प्रयोग – यदि आपको एसिडिटी हो गए है तो छाछ का प्रयोग करें क्योंकि छाछ में लैक्टिक एसिड होता है जो की पेट की एसिडिटी को बेअसर कर देता है। इसका प्रयोग ऐसे करें एक गिलास छाछ लें उसमे थोड़ा सा मेथी दाने का पाउडर डाल कर पी लें आपकी पेट दर्द भी दूर हो जायेगी।

सेब का सिरका अपनाएँ – सेब का सिरका एसिडिटी भगाने में मदद करता है।

कम से कम एक चमच सेब का सिरका एक कप पानी में घोलें और दिन में कम से कम दो बार सेवन जरूर करें।

आप इसे खाने से पहले भी सेवन कर सकते हैं।

लॉन्ग का प्रयोग
– लौंग पेट की गैस को दूर करता है। पेट में एसिड्स के कारण भी एसिडिटी होती है।

लौंग और इलयाची को कूट कर इनका सेवन करें। ये पेट के एसिड को दूर करता है।

ये साँसों को भी तरोताजा रखता है और खट्टे डकारों को भी दूर करता है।

सौंफ का प्रयोग
– खाना खाने के बाद आप सौंफ का प्रयोग कर सकते है।

ये हमारे पाचन तंत्र को भी ठीक रखता है और गैस भी नहीं होने देता।

एक कम पानी में एक चमच सौंफ का डाले तथा उसे उबाल कर छाने फिर उसका सेवन दिन में कम से कम दो बार करें।